Chhath Puja 2023 kab hai: छठ पर्व 4 दिनों तक मनाया जाता है। महिलाएं छठ के दौरान लगभग 36 घंटे का व्रत रखती हैं। छठ के दौरान छठी मईया और सूर्यदेव की पूजा की जाती है।

Chhath Puja 2023 Date: हिंदू धर्म में हर साल कार्तिक मास के शुक्ल पक्ष की षष्ठी तिथि को छठ पूजा का पर्व मनाया जाता है। षष्ठी तिथि को डूबते सूर्य को अर्घ्य दिया जाता है। अगले दिन उगते सूर्य को अर्घ्य देने की परंपरा है। छठ पूजा की शुरुआत नहाए खाय से होती है और अगले दिन खरना मनाया जाता है। छठ पूजा का त्योहार बिहार, झारखंड और पूर्वी उत्तर प्रदेश समेत देश कई हिस्सों में धूमधाम के साथ मनाते हैं। मान्यता है कि छठ पूजा करने से जीवन में सुख-समृद्धि व खुशहाली का आगमन होता है। 

Chhath Vrat Katha छठ पूजा की पौराणिक तथा व्रत कथा: द्रौपदी ने रखा था छठ का व्रत

द्रौपदी भी करती थीं छठ पूजा: छठ व्रत को सबसे कठिन व्रतों में से एक माना गया है। महाभारत काल में द्रौपदी ने भी छठ पूजा की थी। खरना के दिन शाम में पूजा करने के बाद व्रती प्रसाद ग्रहण करते हैं और फिर लगातार 36 घंटे का निर्जला व्रत रखते हैं।

छठ पूजा 2023 की प्रमुख तिथियां: 17 नवंबर को नहाय खाए किया जाएगा। 18 नवंबर को खरना मनाया जाएगा। 19 नवंबर को छठ पूजा की जाएगी। इस दिन डूबते सूर्य को अर्घ्य दिया जाएगा। 20 नवंबर को उगते सूर्य को अर्घ्य दिया जाएगा और इसी के साथ छठ पूजा का समापन व व्रत पारण किया जाएगा।

कब है नहाय-खाय 2023?

लोक आस्था का यह महापर्व चार दिन तक चलता है। इसका पहला दिन नहाय-खाय होता है। इस साल नहाय-खाय 17 नवंबर को है। इस दिन सूर्योदय 06 बजकर 45 मिनट पर होगा। वहीं सूर्यास्त शाम 05 बजकर 27 मिनट पर होगा। 

छठ पूजा 2023 पर संध्या अर्घ्य का समय

छठ पूजा का तीसरा दिन संध्या अर्घ्य का होता है। इस दिन छठ पर्व की मुख्य पूजा की जाती है। इस दिन व्रती घाट पर आते हैं और डूबते सूर्य को अर्घ्य देते हैं। इस साल छठ पूजा का संध्या अर्घ्य 19 नवंबर को दिया जाएगा। 19 नवंबर को सूर्यास्त शाम 05 बजकर 26 मिनट पर होगा।

Chhath Puja 2023 छठ पूजा पर उगते सूर्य को अर्घ्य देने का समय

चौथा दिन यानी सप्तमी तिथि छठ महापर्व का अंतिम दिन होता है। इस दिन उगते सूर्य को अर्घ्य दिया जाता है और व्रत का पारण का होता है। इस साल 20 नवंबर को उगते सूर्य को अर्घ्य दिया जाएगा। इस दिन सूर्योदय 06 बजकर 47 मिनट पर होगा। 

छठ पूजा कैलेंडर 2023

छठ पूजा का पहला दिननहाय-खाय17 नवंबर, दिन शुक्रवार
छठ पूजा का दूसरा दिनखरना (लोहंडा)18 नवंबर, दिन शनिवार
छठ पूजा का तीसरा दिनछठ पूजा, संध्या अर्घ्य19 नवंबर, दिन रविवार
छठ पूजा का चौथा दिनउगते सूर्य को अर्घ्य, पारण20 नवंबर, दिन सोमवार

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Open chat
सहायता
Scan the code
KARMASU.IN
नमो नमः मित्र
हम आपकी किस प्रकार सहायता कर सकते है